Breaking News

‘अनपढ़ लोग मुँह उठा कर सेना को गाली देने आ जाते हैं’: न्यूज डिबेट से भगाए गए उदित राज, बॉर्डर की कोई जानकारी नहीं

नई दिल्‍ली। अपने आपको दलितों का सबसे बड़ा नेता बताने वाले उदित राज की एक टीवी न्यूज डिबेट के दौरान जम कर बेइज्जती हो गई। कॉन्ग्रेस नेता भारत-चीन तनाव मुद्दे पर चर्चा में हिस्सा लेने पहुँचे थे लेकिन पता चला कि न तो उन्हें सीमा का कोई ज्ञान है और न ही सेना के बारे में उनके पास कोई जानकारी है। जब न्यूज़ एंकर ने उनसे पूछा कि DSDBO रोड क्या है, जिसे लेकर पूरा विवाद खड़ा हुआ है। इस सवाल के बाद उदित राज बगले झाँकते हुए बात बदलते नज़र आए।

बता दें कि DSDBO रोड का अर्थ है दरबुक-श्योक डीबीओ मार्ग, जो वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) का पास से गुजरती है। DSDBO मार्ग लद्दाख़ की राजधानी लेह से चलकर दरबुक और श्योक घाटी मे स्थित श्योक गाँवों से होती हुई उत्तर में चीन की सीमा के समीप स्थित दौलत बेग ओल्डी (डीबीओ) तक जाती है। श्योक से डीबीओ तक का मार्ग 220 किलोमीटर लम्बा है और इसका निर्माण 2000 से 2019 के बीच सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने किया था।

कॉन्ग्रेस नेता उदित राज यूँ तो दावा करते रहे कि चीन ने हमारी जमीन पर कब्जा कर लिया है लेकिन उन्हें सीमा की कोई जानकारी नहीं थी। वो बार-बार कहते रहे कि ‘देश हमारा चला गया’ लेकिन DSDBO रोड को लेकर जवाब नहीं दे पाए। इससे पता चलता है कि उन्होंने न्यूज़ डिबेट में आने से पहले भी कोई रिसर्च नहीं किया था। न्यूज़ एंकर ने कहा कि उदित राज को गलवान घाटी का क-ख-ग भी नहीं पता है।

इसके बाद उदित राज से पूछा गया कि गलवान नदी का उद्गम स्थल कहाँ है? इस सवाल का भी उनके पास कोई जवाब नहीं था। बता दें कि गलवान नदी अक्साई चीन से लद्दाख में बहती है। ये काराकोरम रेंज में सैमजुंगलिंग के पूरी हिस्से से ऑरिजिनेट होती है। फिर वो पश्चिम की तरह बहते हुए श्योक नदी में मिल जाती है। 80 किलोमीटर की इस नदी को लेकर 1962 युद्ध में भी घमासान हो चुका है।

loading...
Loading...
देखें उदित राज की बेइज्जती 26:00 के बाद से (साभार: Zee News)

जब उदित राज बार-बार इन सवालों को टाल कर अपनी अज्ञानता का परिचय देते रहे तो न्यूज़ एंकर ने कहा कि अनपढ़ लोग मुँह उठा कर बिना पढ़े-लिखे सेना को गाली देने आ जाते हैं। इसके बाद उदित राज ने न्यूज़ एंकर को ‘सेना का चमचा’ करार दिया। वो चीनी सेना पीएलए के बारे में भी कुछ नहीं बता पाए। LAC के इस तरह और उस तरफ भारत-चीन में कितना हिस्सा है, इसे लेकर भी उनके पास कोई जानकारी नहीं थी।

इससे पहले उदित राज बोल रहे थे कि मीडिया ने झूठ बोल-बोल कर देश का सत्यानाश कर दिया है। वो मीडिया को बार-बार सेना का चमचा बताते रहे। उदित राज की इस हरकत से नाराज़ न्यूज़ एंकर ने उन्हें फटकारा और कहा कि अगर देश की बात करने से कोई सेना का चमचा हो जाता है तो हाँ, वो ‘सेना के चमचे’ हैं। बाद में उदित राज को इस डिबेट से निकाल कर भगा दिया गया। एंकर ने उन्हें बुलाने के लिए जनता से माफ़ी भी माँगी।

हाल ही में उदित राज ने ट्विटर पर दावा किया था कि 17 कंपनियाँ 500 रुपए में कोरोना टेस्ट किट बनाकर देने के लिए तैयार थी, लेकिन पीएम मोदी ने इसका ठेका गुजरात की एक कंपनी को दिला दिया, जो इस कोरोना टेस्ट किट को 4500 रुपए में बेच रहा है। ये जानकारी पूरी तरह फेक निकली। CMR द्वारा PT-PCR के लिए स्वीकृत कीमत 740 से 1150 रुपए है जबकि रैपिड टेस्ट किट के लिए यह 528 से 795 रुपए है।

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *