इन्स्पायर एवार्ड के पंजीकरण पर लगा कोरोना का ग्रहण पंजीकरण में हरदोई 746 तो लखनऊ केवल 211 के अंक पर

गरीब संवर्ग के विज्ञान मे अभिरूचि रखने वाले बच्चों के लिये इंस्पायर एवार्ड मानक एक बहुत बड़ा प्लेटफार्म बन चुका है। इस महत्वाकांक्षी विज्ञान प्रतियोगिता में गत वर्ष पूरे उत्तर प्रदेश के 18 मण्डलों में 31,433 प्रोजेक्ट का पंजीकरण हुआ था। जिसका 21.78 पतिशत कुल 6878 अकेले लखनऊ मंडल के हरदोई, उन्नाव, रायबरेली, लखनऊ, लखीमपुर खीरी और सीतापुर से हुआ था। जिसमें हरदोई 4447 पंजीकरण के साथ पहले स्थान पर था। परन्तु इस बार इन्सपायर एवार्ड के पंजीकरण पर कोरोना ग्रहण लग गया है।

कोरोना के चलते न तो सरकारी और न ही निजी विद्यालय इसमें पंजीकरण करा रहे है। नौ सितम्बर तक पोर्टल पर पंजीकृत 1279 विद्यालयों से केवल 69 विद्यालयों के 151 पंजीकरण हुये थें। मंडलीय विज्ञान प्रगति अधिकारी डा0 दिनेश कुमार की कोशिश के फलस्वरूप 14 सितम्बर तक 1550 पंजीकरण इंस्पायर एवार्ड में हो चुके है। दिनेश कुमार ने बताया कि प्रतियोगिता में पंजीकरण की अंतिम तिथि अभी तक 30 सितम्बर ही है। उन्होनें शिक्षकों, विद्याार्थियों तथा स्कूल के प्रधानाचार्यों से अपील की कि वे अपने यंहा से कक्षा 6 से कक्षा 10 तक के कम से कम पांच विद्यार्थियों का पंजीकरण इंस्पायर एवार्ड में करवायें। इस सम्बन्ध में जिला विद्यालय निरीक्षके भी पहले ही सभी विद्यालयों को आदेश जारी कर चुके है।

 

देश-विदेश की ताजा ख़बरों के लिए बस करें एक क्लिक और रहें अपडेट 

हमारे यू-टयूब चैनल को सब्सक्राइब करें :

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें :

कृपया हमें ट्विटर पर फॉलो करें:

हमारा ऐप डाउनलोड करें :

हमें ईमेल करें : [email protected]

Related Articles

Back to top button
Close