महाराष्ट्र के सरकार गठन पर कुमार विश्वास ने कही बड़ी बात, कविराज ने दिखाई शब्दों की जादूगरी

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में आज सुबह देवेन्द्र फडण्वीस ने दोबारा सीएम पद की शपथ ले ली है, राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई, इसके साथ ही एनसीपी नेता अजित पवार ने डिप्टी सीएम के तौर पर शपथ लिया है, कहा जा रहा है कि एनसीपी दो खेमों में बंट चुकी है, अजित पवार के साथ 25 से 30 विधायक हैं, जिनके दम पर उन्होने सरकार बनाने का फैसला लिया है। सरकार गठन के बाद कवि कुमार विश्वास ने ट्विटर पर कुछ ऐसा लिखा है, जो तेजी से वायरल हो रहा है।

कुमार विश्वास ने क्या लिखा
महाराष्ट्र में सरकार गठन के बाद रॉकस्टार कवि और आम आदमी पार्टी में हाशिये पर चल रहे कुमार विश्वास ने प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए ट्विटर पर लिखा है, यानि अब शेर ओ शायरी सिर्फ़ हम लोग के लिए बख्श दी जाएगी ? या पूरे पाँच साल दर्द और बदले के शेर सुनने पड़ेंगे ?

शिवसेना से टूटा गठबंधन
आपको बता दें कि विधानसभा चुनाव में बीजेपी और शिवसेना ने गठबंधन में चुनाव लड़ा था, लेकिन चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद शिवसेना के तेवर बदल गये, वो पहले ढाई साल के लिये सीएम पद की मांग कर रहे थे, जिसके लिये बीजेपी तैयार नहीं हुई, जिसके बाद दोनों का तीस साल पुराना गठबंधन टूट गया, इसके बाद शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने की तैयारी कर रही थी।फडण्वीस ने जताया आभार
सरकार बनाने के बाद नवनिर्वाचित सीएम देवेन्द्र फडण्वीस ने कहा कि महाराष्ट्र की जनता ने हमें स्पष्ट जनादेश दिया था, लेकिन शिवसेना दूसरी पार्टियों से गठबंधन में लग गई, इसके साथ ही उन्होने अजित पवार का आभार भी जताया कि वो हमारे साथ आए, उन्होने कहा कि प्रदेश की जनता स्थिर सरकार चाहती है, ना कि खिचड़ी सरकार।

Dr Kumar Vishvas

@DrKumarVishwas

यानि अब शेर ओ शायरी सिर्फ़ हम लोग के लिए बख्श दी जाएगी ? या पूरे पाँच साल दर्द और बदले के शेर सुनने पड़ेंगे ?😳😂😂🙏

4,760 people are talking about this
 

देश-विदेश की ताजा ख़बरों के लिए बस करें एक क्लिक और रहें अपडेट 

हमारे यू-टयूब चैनल को सब्सक्राइब करें :

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें :

कृपया हमें ट्विटर पर फॉलो करें:

हमारा ऐप डाउनलोड करें :

हमें ईमेल करें : [email protected]

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button