लखनऊ : समाजवादी पार्टी का योगी सरकार के खिलाफ हल्ला-बोल, कौशांबी, प्रयागराज, वाराणसी, बाँदा, गाजीपुर, जौनपुर, राजधानी लखनऊ समेत पूरे प्रदेश में विरोध प्रदर्शन, कई जगह पुलिस ने किया लाठी चार्ज

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को प्रदेश के सभी कलेक्ट्रेट पर धरने का किया था आवाहन

लखनऊ : समाजवादी पार्टी का योगी सरकार के खिलाफ हल्ला-बोल, कौशांबी, प्रयागराज, वाराणसी, बाँदा, गाजीपुर, जौनपुर, राजधानी लखनऊ समेत पूरे प्रदेश में विरोध प्रदर्शन, कई जगह पुलिस ने किया लाठी चार्ज

लखनऊ :- भ्रष्टाचार, मंहगाई, बढ़ते अपराध, रोजगार संकट और निजीकरण समेत कई मुद्दों को लेकर समाजवादी पार्टी की यूथ ब्रिगेड ने आज पूरे प्रदेश में जोरदार विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान सपाइयों ने अलग-अलग जिला मुख्यालयों पर हल्ला बोला और सरकार से रोजगार देने की मांग की। कई जगह सपा कार्यकतार्ओं और पुलिस के बीच टकराव भी देखने को मिला। जिसके बाद कई जगह सपा कार्यकर्ता धरने पर भी बैठ गए। भीड़ हटाने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा।

प्रयागराज में प्रदर्शन और ज्ञापन सौंपने के दौरान सपा कार्यकतार्ओं और पुलिस में जमकर झड़प हुई। जिसके बाद पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर कई कार्यकतार्ओं को हिरासत में लिया। कौशांबी में हजारो की संख्या में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जिला मुख्यालय मंझनपुर में सरकार विरोधी नारेबाजी के साथ जबरदस्त विरोध प्रर्दशन किया और महामहिम राज्यपाल के नाम संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा।

 

गाजीपुर में भी विभिन्न मुद्दों को लेकर सपा के कार्यकतार्ओं की पुलिस से झड़प हो गई। जिसके बाद प्रदर्शन कर रहे सपाइयों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया। वाराणसी में प्रदर्शन के दौरान सपा कार्यकतार्ओं पर लाठी चार्ज किया गया। सोमवार को सुबह से ही वाराणसी जिला मुख्यालय पर सपा कार्यकतार्ओं का प्रदेश में बढ़ते अपराध और बेरोजगारी सहित कई मामलों को लेकर प्रदर्शन चल रहा था। इस दौरान जिला प्रशासन पर उत्पीड़न का आरोप लगाते नारे गूंजने लगे और नारेबाजी के बीच मौके पर मौजूद कार्यकतार्ओं की पुलिस से बहस शुरू हो गई तो पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया।

इस दौरान हाथों में पोस्टर बैनर लेकर प्रदेश सरकार और जिला प्रशासन के खिलाफ सपा कार्यकर्ता नारेबाजी करने लगे। नारेबाजी के दौरान पुलिस के साथ झड़प शुरू हुई तो पहले से ही तैयार पुलिस कर्मियों ने सपाइयों पर लाठी चार्ज कर दिया। इस दौरान कई सपा कार्यकर्ता चोटिल भी हो गए। मौजूद प्रदर्शनकारियों ने कहा कि मोदी-योगी राज में किसान परेशान हैं। शिक्षा महंगी हो गई है। बेरोजगारी बढ़ गई है। आरक्षण को खत्म किया जा रहा है। निजीकरण से रोजगारों की संख्या में कमी आ रही है और योगी सरकार में भ्रष्टाचार फल फूल रहा है।

लखनऊ में सपा कार्यकर्ता डीएम को संबोधित ज्ञापन देने के लिए कैसरबाग स्थित कलेक्ट्रेट ऑफिस पहुंचे थे। इस दौरान कार्यकर्ताओं द्वारा प्रदेश सरकार व केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गई। इसको लेकर कार्यकर्ता और पुलिस के बीच काफी देर तक तीखी नोकझोंक देखने को मिली।

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को प्रदेश के सभी कलेक्ट्रेट पर धरने का किया आवाहन किया था। इसी क्रम में जिलाध्यक्ष, महानगर और यूथ फ्रंटल के कार्यकर्ताओं द्वारा किसान बेहाल, बेरोजगारी, महंगी शिक्षा को लेकर मुख्यालय पर प्रदर्शन किया है। प्रदेश के सभी जनपदों में सपा कार्यकर्ताओं ने एक स्वर में युवाओं को रोजगार की मांग उठाई। इन मुद्दों को लेकर प्रदर्शनकारियों ने जिलाधिकारियों को ज्ञापन सौंपे। ज्ञात हो कि सपा मुखिया अखिलेश यादव रोजगार, भ्रष्टाचार और कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर योगी सरकार को निशाने पर लेते रहे हैं। इन्हीं मुद्दों को लेकर सपाई सड़कों पर उतर कर विरोध प्रदर्शन कर नारेबाजी रहे थे, और ‘जुमलेबाजी बंद करो’, ‘युवाओं को रोजगार दो’ के बैनर लिए हुए थे।

 

देश-विदेश की ताजा ख़बरों के लिए बस करें एक क्लिक और रहें अपडेट 

हमारे यू-टयूब चैनल को सब्सक्राइब करें :

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें :

कृपया हमें ट्विटर पर फॉलो करें:

हमारा ऐप डाउनलोड करें :

हमें ईमेल करें : [email protected]

Related Articles

Back to top button
Close