Breaking newsFeaturedMain Slideअन्य ख़बरेंगुजरातबड़ी खबरेंराज्य

Earthquake in Gujarat: 24 घंटे में दूसरी बार दहला गुजरात, दहशत में घरों से बाहर भागे लोग

This News was published on: 2:53 PM

अहमदाबाद। गुजरात के कच्‍छ में सोमवार दोपहर 12 बजकर 59 मिनट पर एक बार फिर भूकंप का झटका महसूस किया गया। रिक्‍टर स्‍केल पर इसकी तीव्रता 4.6 आंकी गई है। रविवार रात सवा आठ बजे से सोमवार दोपहर तक गुजरात मेंं भूकंप के 13 झटके दर्ज किए गए हैं। सोमवार दोपहर करीब एक बजे अचानक कच्‍छ में भूकंप का तेज झटका महसूस किया गया, बीती रात सवा आठ बजे भी गुजरात में भूकंप का एक तेज झटका लगा था।

इंडियन सिस्‍मॉलोजिकल रिसर्च इंस्‍टीट्यूट के अनुसार रविवार रात से सोमवार दोपहर तक भूकंप के करीब 13 झटके गुजरात ने महसूस किए हैं। भूगर्भ वैज्ञानिकों का मानना है कि जमीन के गर्भ में हलचल होने से यह झटके लग रहे हैं। भूकंप के लिए जिम्‍मेदार यह प्‍लेट एक बार फिर भूगर्भीय हलचल कर रही है। वैज्ञानिक गुजरात में भूकंप के ओर झटके लगने की चेतावनी दे रहे हैं। सोमवार दोपहर आए भूकंप का केंद्र भी भचाउ से 15 किमी बताया जा रहा है। गौरतलब है कि वर्ष 2001 में गुजरात में आए भूकंप का केंद्र भी भचाउ ही था।

26 जनवरी 2001 में गुजरात में आए विनाशकारी भूकंप के बीस साल बाद रविवार शाम को गुजरात ने  फिर भूकंप का तेज झटका महसूस किया। 5.5 की तीव्रता वाले भूकंप के ये झटके राज्‍य के विविध जिलों में 12 से 15 सेकंड तक महसूस किए गए। सोमवार दोपहर तक लगातार एक के बाद एक 13 झटके महसूस किए जा चुके हैं। एपी सेंटर के नजदीक वाले 12 जिले मोरबी, गीर सोमनाथ, गांधीनगर, पाटण, बनासकांठा, पोरबंदर, जामनगर, अमरेली, सुरेंद्रनगर, अहमदाबाद, कच्‍छ तथा राजकोट में जान माल के नुकसान की कोई खबर नहीं है। रविवार रात के भूकंप के बाद लगातार आफ्टर शॉक रिकार्ड किए जा रहे हैं। सभी जिले  हॉटलाइन, राज्‍य आपदा प्रबंधन समूह, मौसम निगरानी टीम लगातार भूकंप की हलचल पर निगरानी बनाए हुए हैं, गुजरात में  फिर भूकंप के झटकों की आशंका है।

 

देश-विदेश की ताजा ख़बरों के लिए बस करें एक क्लिक और रहें अपडेट 

हमारे यू-टयूब चैनल को सब्सक्राइब करें :

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें :

कृपया हमें ट्विटर पर फॉलो करें:

हमारा ऐप डाउनलोड करें :

हमें ईमेल करें : [email protected]

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *