शामली: ट्रैक्टर परेड के दौरान किसानों और पुलिस अफसरों के बीच जमकर झड़प

शामली (Shamli) जनपद में कृषि बिल का विरोध जताते हुए मेरठ करनाल हाईवे गांव टिटौली से कलेक्ट्रेट तक 15 गांव के किसानों (Farmers) ने संयुक्त रूप से एक ट्रैक्टर परेड (Tractor Parade) निकाली।

शामली (Shamli) जनपद में कृषि बिल का विरोध जताते हुए मेरठ करनाल हाईवे गांव टिटौली से कलेक्ट्रेट तक 15 गांव के किसानों (Farmers) ने संयुक्त रूप से एक ट्रैक्टर परेड (Tractor Parade) निकाली। किसानों ने अपने-अपने ट्रैक्टर पर तिरंगा लहराते हुए पूरी परेड की। वहीं रास्ते में किसानों और सीओ के बीच बड़ी झड़प भी हुई। झड़प में जहां किसानों को पुलिस अधिकारी रोकने का प्रयास कर रहे थे। वहीं, दूसरी ओर कलेक्ट्रेट पर जाकर राष्ट्रगान गाने की जिद्द पर किसान अड़े हुए थे। किसानों को रोकने के लिए और व्यवस्था बनाए रखने के लिए सीओ के नेतृत्व में कई थानों की पुलिस फोर्स और पीएसी तैनात की गई।

बता दें कि जहां एक ओर देश में चारों तरफ गणतंत्र दिवस धूमधाम से मनाया जा रहा था। वहीं, शामली जनपद के किसान कृषि बिल का विरोध जताते हुए अपने 12 ट्रैक्टरों पर तिरंगा झंडा लहराते हुए परेड करते नजर आए। आदर्श मंडी थाना क्षेत्र के गांव टीटोली में अन्य करीब 15 गांव के किसान एकजुट होकर कदमताल मिलाते हुए ट्रैक्टरों पर तिरंगा लहराते हुए परेड करते नजर आए, जहां पर किसान ‘भारत माता की जय’ और ‘किसान बिल वापस लो’ के नारे लगाते हुए नजर आए।

किसानों का साफ तौर से कहना है कि आज गणतंत्र दिवस है, गणतंत्र दिवस को अब इस बार किसान दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। अगर किसान बिल वापस नहीं हुआ तो आगे भी यह गणतंत्र दिवस किसान दिवस के रूप में मनाया जाएगा। वहीं, सैकड़ों की संख्या में जहां किसान परेड करते हुए कलेक्ट्रेट की ओर पहुंच रहे थे। उसी बीच किसानों और पुलिस अधिकारियों के बीच जमकर झड़प हुई। झड़प के दौरान किसान पुलिस पर भारी पड़ रहे थे तो वहीं, सीओ सिटी की सूझबूझ से अंतिम दौर पर किसानों को शांतिपूर्वक वापस लौटा दिया गया।

ये भी पढ़ें-  गणतंत्र दिवस: 25 हजार दर्शक ही देख पाएंगे गणतंत्र दिवस की परेड, 32 झांकियां की जाएंगी प्रदर्शित

वहीं, इस मामले में पुलिस अधिकारी का कहना है कि किसान आए थे और शांति पूर्वक परेड करते हुए वापस चले गए। आज गणतंत्र दिवस का दिन है, सबको अधिकार है तिरंगा लगाकर उसका सम्मान करते हुए परेड करने या अपनी बात कहने का है।

 

देश-विदेश की ताजा ख़बरों के लिए बस करें एक क्लिक और रहें अपडेट 

हमारे यू-टयूब चैनल को सब्सक्राइब करें :

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें :

कृपया हमें ट्विटर पर फॉलो करें:

हमारा ऐप डाउनलोड करें :

हमें ईमेल करें : [email protected]

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button