आप ने फोटो पहचाना, जी हा ये 4000 करोड़ के घोटाले का आरोपी पूर्व CM मधु कोड़ा है

झारखंड।  झारखंड के पूर्व सीएम मधु कोड़ा मे अपनी फेसबुक वॉल पर एक ऐसी तस्वीर शेयर की है जो सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रही है। दरअसल मुख्यमंत्री ने वॉल पर खेत में हल चलाते हुए अपनी एक फोटो साझा की है। जिस पर लोगों के सैकड़ों लाइक व कमेंट्स आ रहे हैं। बता दें कि वह पश्चिम सिंहभूम जिला स्थित अपने गांव पाताहातू में खेती कर रहे हैं। एक समय था जब मधु कोड़ा मकानों में लोहे के खिड़की और दरवाजे लगाने का काम किया करते थे। सीएम बनने के बाद उन पर चार हजार करोड़ रुपए के घोटाले का आरोप लग चुका है। गौरतलब है कि करोड़ों के घोटाले के आरोपी सीएम फिलहाल जमानत पर बाहर हैं।

2006 से 2008 के बीच सीएम रहे कोड़ा को घोटाले के आरोप में 3 साल 8 महीने जेल में भी रहना पड़ा था। फिलहाल अभी जमानत पर हैं। अब भी इन पर भ्रष्टाचार के केस चल रहे हैं। बता दें कि कोड़ा की पत्नी गीता कोड़ा जय भारत समानता पार्टी की इकलौती विधायक हैं। यह पार्टी भी मधु कोड़ा ने ही बनाई है।

यह फोटो मधु कोड़ा ने चाइबासा स्थित अपने गांव के खेत में खिंचवाया है। बताते चलें कि इन्हें मुख्यमंत्री के रूप में 18 सितंबर 2006 को शपथ दिलाई गई थी। मधु कोड़ा का यह भी रिकॉर्ड रहा है कि निर्दलीय विधायक होते हुए वे झारखंड के मुख्यमंत्री बने थे। कोड़ा करीब 709 दिन झारखंड के मुख्यमंत्री रहे।

मधु कोड़ा का जन्म झारखंड के अति पिछड़े गांव में हुआ था। उनके पिता रसिक के पास एक एकड़ का खेत था। जो एक खदान में मजदूरी किया करते थे। उनकी तमन्ना थी कि बेटा पढ़ लिखकर थानेदार बन जाए। लेकिन मधु कोड़ा के दिमाग में तो कुछ और ही चल रहा था। चाइबासा में प्राइमरी शिक्षा ली। पत्राचार से स्नातक हुए। वह फिर आरएसएस तथा ऑल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन में रहे।

भाजपा नेता बाबूलाल मरांडी के संपर्क में आकर राजनीति करने लगे। भाजपा ने टिकट नहीं दिया तो निर्दलीय चुनाव लड़े और जीत गए। कमलेश सिंह, एनोस एक्का और हरिनारायण राय (तीन निर्दलीय) के साथ मिलकर उन्होंने सरकार बनाईं और गिराईं। 2000 में जगन्नाथपुर सीट से जीते। मरांडी सरकार में पंचायत मंत्री बने। 2006 में कोड़ा और तीन निर्दलीयों ने अर्जुन मुंडा की सरकार को गिरा दिया और मधु कोड़ा खुद मुख्यमंत्री बन गए।

 

देश-विदेश की ताजा ख़बरों के लिए बस करें एक क्लिक और रहें अपडेट 

हमारे यू-टयूब चैनल को सब्सक्राइब करें :

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें :

कृपया हमें ट्विटर पर फॉलो करें:

हमारा ऐप डाउनलोड करें :

हमें ईमेल करें : [email protected]il.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button