धर्म के बाद अब निवेश जुटाने मारीशस पहुंचे सीएम योगी

राजेश श्रीवास्तव

नयी दिल्ली। हिंदुत्व की बागड़ोर थामने वाले व कSर हिंदुत्व की पहचान रखने वाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अब व्यवसायिक हित साधने की भी पुरजोर कोशिश करते दिख रहे हैं। इन्हीं उम्मीदों के साथ मुख्यमंत्री योगी अपनी दूसरी विदेश यात्रा के लिए मारीश्ॉस रवाना हो गये हैं। इससे पहले भी वह मारीशस जा चुके हैं हालांकि तब वह सांसद रहते गये थ्ो। लेकिन इस बार उनकी यात्रा का मकसद उत्तर प्रदेश के लिए प्रवासी भारतीयों को आकर्षित करना होगा। अप्रवासी भारतीयों को उत्तर प्रदेश में निवेश के लिए आकर्षित करने के मकसद से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार को मॉरीशस रवाना हो गए।

उनके साथ केंद्रीय मंत्री गिरीराज सिह भी दौरे पर हैं। इस दौरे के दौरान वह राज्य में निवेश की तमाम संभावनाओं को पेश करेंगे। सूचना विभाग के प्रमुख सचिव अवनीश अवस्थी कहते हैं कि मुख्यमंत्री योगी अपनी तीन दिवसीय मॉरीशस यात्रा के दौरान प्रवासी भारतीय दिवस कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। इस कार्यक्रम का मकसद प्रवासी भारतीयों को उत्तर प्रदेश में निवेश के लिये आकर्षित करना और उनके सामने सरकार की योजनाओं को प्रस्तुत करना है। योगी के साथ मॉरीशस जा रहे श्री अवस्थी ने सरिता प्रवाह को बताया कि अपनी यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री अप्रवासी भारतीयों से मुलाकात करेंगे। इस दौरान वह राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में निवेश की संभावनाओं को विस्तार से सामने रखेंगे।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में निवेश की अपार संभावनाएं हैं। प्रदेश का मूलभूत ढांचा बेहतर है और पुरानी व्यवस्था में परिवर्तन लाए जाने की वजह से स्थितियां निवेश के बिल्कुल अनुकूल बन गई हैं। उल्लेखनीय है कि भारत मॉरीशस का सबसे बड़ा व्यापारिक साझीदार है और वर्ष 2००7 से वह मॉरीशस को सामान तथा सेवाओं का निर्यात कर रहा है। योगी का मॉरीशस दौरा हाल में अमेरिका की विभिन्न कम्पनियों के 2० सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात के बाद हो रहा है।

इस बैठक में भी योगी ने इन कंपनियों से उत्तर प्रदेश में निवेश का आग्रह करते हुए राज्य सरकार से हर संभव सहायता का आश्वासन दिया था। ऐसी संभावना है कि योगी अगले साल मार्च में लखनऊ में आयोजित होने वाले एनआरआई दिवस में भारतीय मूल के उद्योगपतियों को आमंत्रित भी करेंगे। यूपी पिछले दो वर्षों से प्रवासी भारतीय दिवस का आयोजन कर रहा है। इसका मकसद प्रदेश से प्रवासी भारतीयों को जोड़ना और सूबे के विकास में उनका योगदान प्राप्त करना है। श्री अवस्थी ने बताया कि सरकार का विचार है कि लखनऊ में यूपी में अपनी जड़े रखने वाले प्रवासी भारतीयों को लेकर एक कार्यक्रम आयोजित किया जाए।

जैसा कि प्रदेश की नई औद्योगिक नीति में घोषणा की गई है कि राज्य सरकार प्रदेश के औद्योगिक तथा व्यापारिक उन्नति के लिए निवेश करने वाले प्रवासी भारतीयों को हर संभव मदद देगी। नवी मुंबई के उप्र भवन में रात बिताने वाले योगी पहले सीएम योगी आदित्यनाथ नवी मुंबई स्थित यूपी भवन में रात बिताने वाले पहले सीएम बन गए हैं। वह मॉरीशस जाते हुए रात करीब 11 बजे यूपी भवन पहुंचे और सुबह पांच बजे रवाना हुए। योगी को मुंबई होते हुए मॉरीशस जाना था। वह रात 1० बजे मुंबई पहुंचे। मुंबई से मॉरीशस की उनकी फ्लाइट अगले दिन सुबह छह बजे की थी।

मुंबई के सांताक्रूज स्थित विमानतल के आसपास कई पांच सितारा होटल हैं। राम नाईक और सुमित्रा महाजन यहां अक्सर ठहरते हैं। मुंबई भाजपा के महासचिव अमरजीत मिश्र ने उन्हें महाराष्ट्र के मलाबार हिल्स के सह्याद्रि गेस्ट हाउस में रुकने का आग्रह किया। लेकिन योगी ने विमानतल से करीब 2० किमी दूर स्थित यूपी भवन में ही रुकने का फैसला किया। भवन का उद्घाटन 23 मई, 2०13 को तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने किया था।

 

देश-विदेश की ताजा ख़बरों के लिए बस करें एक क्लिक और रहें अपडेट 

हमारे यू-टयूब चैनल को सब्सक्राइब करें :

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें :

कृपया हमें ट्विटर पर फॉलो करें:

हमारा ऐप डाउनलोड करें :

हमें ईमेल करें : tahalkaex[email protected]

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button