पीटर का यू-टर्न? कहा- पता था कि शीना इंद्राणी की बेटी थी, पर पत्नी पर भरोसा था

sheena-bora-with-friends-
अपने दोस्तों के साथ शीना बोरा। यह फोटो दिसंबर 2011 की है जब शीना गुवाहाटी में अपने एक दोस्त की शादी में गई थी। मिखाइल के मुताबिक, वह इसी शादी के दौरान आखिरी बार अपनी बहन शीना से मिला था।
तहलका एक्सप्रेस
मुंबई। हाई प्रोफाइल शीना बोरा मर्डर केस में नया मोड़ आ गया है। इस केस में अरेस्ट हो चुकीं इंद्राणी मुखर्जी के पति और स्टार इंडिया के पूर्व सीईओ पीटर मुखर्जी ने यू-टर्न लिया है। उन्होंने अब मान लिया है कि उन्हें पहले से पता था कि शीना इंद्राणी की बहन नहीं, बेटी थी। लेकिन उन्होंने हर बार पत्नी पर ज्यादा भरोसा किया। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में ऐसा दावा किया गया है। हालांकि, अब तक पीटर यही कहते आए हैं कि उन्हें इस बारे में उनके बेटे राहुल ने एक बार बताया था। पीटर के यू-टर्न के बाद मुंबई पुलिस शुक्रवार को उनसे पूछताछ कर सकती है।
पीटर ने अब कहा- शीना ने खुद मुझसे कहा था कि वह इंद्राणी की बेटी है
– पीटर ने कहा- पीटर ने कहा, ”मुझे कोई आइडिया नहीं था कि शीना इंद्राणी की बेटी है। शादी से पहले इंद्राणी ने यही बताया था कि उसकी एक बहन और भाई है। शीना भी मुझे जीजू कहा करती थी। 2011 में मेरी भतीजी की शादी के दौरान मैं शीना और राहुल से मिला। शीना ने मुझसे कहा था… मेरी बात का यकीन करो। मैं बहन नहीं हूं। इंद्राणी मेरी मां है। शीना ने यह बात किसी को भी बताने से मना किया था। मेरे लिए यह भरोसा करना बेहद मुश्किल था। मैंने यह बात इंद्राणी को बताई लेकिन उसने इसे सिरे से खारिज कर दिया था। मेरे बेटे राहुल ने भी मुझे यही बात बताई, लेकिन मैंने अपनी पत्नी पर भरोसा किया।”
पहले पीटर ने कहा था- मुझे सिर्फ एक बार बेटे ने यह बात कही थी
स्टार इंडिया के पूर्व सीईओ पीटर ने 26 अगस्त को चैनलों से बातचीत में कहा था, ‘जब शीना यूएस से नहीं लौटी तो मेरे बेटे ने कहा था कि पापा कुछ गड़बड़ है। बेटे ने मुझे बताया था कि शीना असल में इंद्राणी की बेटी हो सकती है। लेकिन मैंने उसकी बात को खारिज कर दिया था, क्योंकि तब बेटे की बात मानने की कोई वजह नहीं थी।’
मर्डर मिस्ट्री में क्या हुए हैं नए खुलासे?
1. पीटर ने कहा कि उन्हें खुद शीना ने एक बार कहा था कि वह इंद्राणी की बहन नहीं, बेटी है। यह भी दावा किया गया है कि पीटर को 2002 में इंद्राणी के माता-पिता ने भी चिट्ठी लिखकर कहा था कि शीना-मिखाइल इंद्राणी के बच्चे हैं और इंद्राणी को उन्हें सपोर्ट करना चाहिए।
2. इंद्राणी ने 5 शादियां कीं। पहली शादी दोगुनी उम्र के वकील से की थी। दूसरी शादी शिलॉन्ग में सिद्धार्थ दास से, तीसरी साहिल से, चौथी संजीव खन्ना से और पांचवीं पीटर मुखर्जी से। अब तक पीटर को तीसरा पति बताया जा रहा था।
3. एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि संजीव खन्ना और इंद्राणी में फोन पर अक्सर बातचीत होती थी। यह बात पीटर को पता थी। बता दें कि संजीव खन्ना शीना मर्डर केस में आरोपी है। उससे शुक्रवार को पूछताछ होनी है।
4. शीना के मर्डर के दिन संजीव खन्ना, इंद्राणी और ड्राइवर श्याम के फोन की लोकेशन एक ही जगह मिली। संजीव खन्ना 22 अप्रैल 2012 को मुंबई अाया और मर्डर के बाद 25 अप्रैल को लौट गया।
5. शीना मुखर्जी का बर्थ सर्टिफिकेट सामने आया है। इसमें उसके पिता के तौर पर उपेंद्र बोरा और माता के तौर पर दुर्गा रानी बोहरा का नाम दर्ज है। हालांकि, उपेंद्र ने एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत में इसे खारिज किया है। उनका कहना है कि इंद्राणी ही शीना की मां है।
पीटर ने और क्या कहा?
इंद्राणी और शीना के रिलेशनशिप पर पीटर ने कहा, ”शीना और इंद्राणी के बीच कभी कभार किसी मुद्दे पर मतभेद होते थे, लेकिन ऐसा तो हर रिश्ते में होता है। इंद्राणी को शीना के राहुल के साथ रिश्तों पर समस्या थी। राहुल उस वक्त काम नहीं करता था। इंद्राणी को लगता था कि शीना अपने करियर में कुछ बेहतर कर सकती थी। इंद्राणी को लगता था कि मैं राहुल और शीना को शह दे रहा हूं।”
पीटर ने कहा, ”शीना इंद्राणी की बेटी थी या बहन, इससे इस वक्त कोई फर्क नहीं पड़ता। मुद्दा यह है कि मेरी पत्नी इंद्राणी पर मर्डर का आरोप लगा है। मैं अपनी पत्नी पर 10 में से 9.9 या कहिए 10 में से 10 बार भरोसा करता हूं, जब तक कि मैं गलत न साबित हो जाऊं। आखिर वो मेरी पत्नी है।” मुखर्जी के मुताबिक, वह अपनी पत्नी के प्यार में अंधे हो चुके थे। उनके लिए अपनी पत्नी के खिलाफ लगे आरोपों को पचा पाना मुश्किल है। मर्डर के पीछे फाइनेंशियल वजह होने की आशंका पर पीटर ने कहा, ”निजी तौर पर मुझे महसूस होता है कि फाइनेंशियल प्रॉब्लम नहीं थी। ”
बोरा परिवार के रिश्तेदार ने भी माना-पीटर को पता था
पीटर मुखर्जी को शीना के इंद्राणी की बेटी होने के बारे में काफी पहले से पता था। यह दावा एक अंग्रेजी अखबार ने भी किया है। अखबार ने बोरा परिवार के एक रिश्तेदार के हवाले से यह जानकारी दी है। रिपोर्ट के मुताबिक, नवंबर 2002 में इंद्राणी की पीटर मुखर्जी से शादी होने के बाद गुवाहाटी में रह रहे उसके पिता उपेंद्र कुमार बोरा और मां दुर्गा रानी बोरा ने उसे एक चिट्ठी लिखी। इसमें उन्होंने दरख्वास्त की कि वह अपने बेटी शीना और बेटे मिखाइल को आर्थिक तौर पर सपोर्ट करे। शीना और मिखाइल उस वक्त अपने नाना-नानी के यहां ही रहते थे। चिट्ठी मिलने के बाद इंद्राणी ने कॉल किया। वह बेहद नाराज थी। इसलिए नहीं क्योंकि उसके माता-पिता ने पैसे मांगे, बल्कि इसलिए क्योंकि चिट्ठी पीटर के ऑफिस के एड्रेस पर लिखी गई थी।
रिश्तेदार के मुताबिक, इंद्राणी ने अपनी मां को बताया कि पीटर को उसके बच्चों के बारे में पता है। उसे उसके सामने बहुत सारी सफाई देनी पड़ी। इंद्राणी ने यह भी वादा किया कि वह जल्द ही गुवाहाटी वापस आएगी और उनकी मदद करेगी। 2004 में इंद्राणी गुवाहाटी वापस भी आई। उसके साथ पीटर भी थे। दोनों एक होटल में ठहरे और वहां मिखाइल और शीना की उनसे मुलाकात हुई। दोनों बच्चे इंद्राणी और पीटर के लाइफस्टाइल से बेहद प्रभावित हो गए। वे उनकी दुनिया का हिस्सा बनना चाहते थे।
 

देश-विदेश की ताजा ख़बरों के लिए बस करें एक क्लिक और रहें अपडेट 

हमारे यू-टयूब चैनल को सब्सक्राइब करें :

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें :

कृपया हमें ट्विटर पर फॉलो करें:

हमारा ऐप डाउनलोड करें :

हमें ईमेल करें : [email protected]ail.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button