श्रीनगर: फिर लहराया देश विरोधी झंडा, उस पर लिखा- WE ARE JKIS

isis-flag2तहलका एक्सप्रेस
श्रीनगर। पिछले कई शुक्रवार की तरह इस जुमे पर भी जम्मू-कश्मीर में देश विरोधी झंडे लहराए गए। श्रीनगर के जामिया मस्जिद के पास कुछ लोगों ने नमाज के बाद झंडा दिखाया। प्रदर्शनकारियों ने इस बार झंडे पर ‘WE Are JKIS’ लिख रखा था। इससे पहले शुक्रवार को ही ‘ISIS COMING SOON’ लिखा हुआ झंडा लहराया गया था। बता दें कि पिछले 7 हफ्ते से लगातार शुक्रवार के दिन घाटी में झंडा दिखाए जाने की घटना हो रही है।
इसके पीछे कौन?
पुलिस अफसरों के मुताबिक, आईएसआईएस और पाकिस्तान के झंडे फहराने के पीछे 12 लड़कों का ग्रुप है। सीनियर पुलिस अफसरों के मुताबिक इंटेलीजेंस इनपुट और सीसीटीवी कैमरों से मिले फुटेज और फोटो के आधार पर इस ग्रुप से जुड़े लोगों की पहचान कर ली गई है और इन पर लगातार निगाह रखी जा रही है। इंटेलिजेंस एजेंसियां इस बात की भी जांच कर रही हैं कि इस ग्रुप को आखिर फंडिंग कहां से हो रही है।
घाटी में कब-कब दिखाए गए ISIS के झंडे?
28 अगस्त को श्रीनगर की मस्जिद के पास आईएसआईएस के झंडे दिखाए गए। लश्कर के झंडे भी दिखाए गए।
21 अगस्‍त को श्रीनगर में आईएसआईएस का झंडा छठी बार दिखाया गया था।
17 जुलाई : शुक्रवार को श्रीनगर के नोहट्टा इलाके में एक मस्जिद में जुमे की नमाज के बाद विरोध भड़का। प्रदर्शनकारियों ने आईएसआईएस और लश्कर-ए-तैयबा के झंडे दिखाए।
24 जुलाई : श्रीनगर की जामिया मस्जिद में नमाज के बाद कुछ लोग आईएसआईएस का झंडा लिए नजर आए। उन्होंने नकाब पहन रखा था।
31 जुलाई : इसी मस्जिद के बाहर नमाज के बाद फिर आईएसआईएस और लश्कर-ए-तैयबा के झंडे दिखाए गए।
7 अगस्त : श्रीनगर की जामिया मस्जिद इलाके में एक बार फिर इस्लामिक स्टेट और पाकिस्तान के आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के झंडे भी नजर आए। जो झंडे दिखाए गए उन पर लिखा था, ‘IS JK जल्द आ रहा है’।
14 अगस्त : पाकिस्तान की आजादी की सालगिरह पर जम्‍मू-कश्‍मीर के श्रीनगर में कई जगहों पर पाकिस्तानी झंडे लगे नजर आए। एक महिला अलगाववादी नेता दुख्तरान-ए-मिल्लत की चीफ आसिया अंद्राबी ने तो खुलेआम पाकिस्तानी झंडा लगा दिया और पार्टी वर्करों के बीच भाषण भी दिया। श्रीनगर में एक जगह आईएस का झंडा भी दिखा।
इंडियन मुजाहिदीन कर रहा रिक्रूटमेंट
एक रिपोर्ट के मुताबिक, आईएसआईएस के लिए रिक्रूटमेंट करने वाले ऐसे 70 से 75 लोग भारतीय खुफिया एजेंसियों के रडार पर हैं। आईएसआईएस ज्वॉइन कर चुके इंडियन मुजाहिदीन के कुछ लोग भारत में रिक्रूटमेंट करने के लिए लोगों से संपर्क कर रहे हैं। ऐसे हैंडलर्स के होने की मौजूदगी खुफिया अफसरों ने भी मानी है। ये अफसर उस ऑपरेशन का हिस्सा रहे हैं, जो बीते एक साल में तेलंगाना के 17 यंगस्टर्स को आईएसआईएस ज्वाॅइन करने के लिए विदेश जाने से रोक चुके हैं।
 

देश-विदेश की ताजा ख़बरों के लिए बस करें एक क्लिक और रहें अपडेट 

हमारे यू-टयूब चैनल को सब्सक्राइब करें :

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें :

कृपया हमें ट्विटर पर फॉलो करें:

हमारा ऐप डाउनलोड करें :

हमें ईमेल करें : tahalkaexpressnews[email protected]

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button